चायवाले ‘सैय्यद फैहजाद खान’ को 14 रुपए के चक्कर में भू’न डाला

0

पटना में बुधवार की देर रात एक ऐसी घटना हुई, जिसने सभी को चौंका दिया। महज 14 रुपए की कोल्ड ड्रिंक के लिए खान चायवाले को भू’न डाला गया। रात में करीब एक बजे तीन बदमाश दुकान पर चढ़कर उसे चार गो’ली मा’र गए। खान वहीं त’ड़पते रहे, लेकिन दीघा थाने की पुलिस ने आधा किमी का रास्ता तय करने में डेढ़ घंटे लगा दिए। जब तक पुलिस पहुंचती खान द’म तोड़ चुके थे। जब हिन्दुस्तान स्मार्ट टीम ने पड़ताल की तो दो दिन पहले की एक घ’टना सामने आई। सोमवार की रात तीन बदमाश खान चायवाले के पास आए और मुफ्त में कोल्ड ड्रिंक मांगने लगे। जब उसने मना किया तो बदमाशों ने ध’मकी दी कि दो-तीन दिन के अंदर तुम्हें गो’लियों से भू’न डालेंगे और उन्होंने वही किया भी।

दीघा-दानापुर रोड में खान चायवाला 24 घंटे चलने वाली एक मात्र दुकान है। पुलिस ने कई बार रात में 11 बजे के बाद दुकान बंद करने को कहा, लेकिन दुकान चलाने वाले सैय्यद फैहजाद के घर की स्थिति देख उन्होंने भी बोलना बंद कर दिया। फैहजाद की चार बेटियां और एक बेटा है। बेटियों की शादी करनी है, बेटे को पढ़ाना है। इसके लिए दिन भर पत्नी दुकान चलाती थी और रातभर फैहजाद खुद दुकान पर बैठते थे। बुधवार को भी अंधेरा होने के बाद वह अपनी दुकान पर आ गए थे। रात के करीब एक बजे बाइक सवार तीन अ’पराधी पहुंचे। दुकान के ठीक सामने रोड के दूसरी तरफ अपनी बाइक लगाई। पीछे बैठा लड़का मुंह पर कपड़ा बांधकर दुकान के पास पहुंचा। उसने पि’स्तौल निकाली और त’ड़ातड़ चार गो’लियां चला दीं। पहली गो’ली खान के सीने के पास लगी। दूसरी गो’ली हाथ में लगते ही वह औंधे मुंह गिर गया। इसी बीच अप’राधी ने तीसरी गो’ली सिर में मा’र दी।

स्थानीय लोगों की मानें तो तीनों अ’पराधी दीघा थाने की ओर से आए थे। एक अप’राधी पिस्तौल लेकर दुकान के पास पहुंचा तो फैहजाद कुर्सी पर बैठे थे। गो’ली मा’रने के बाद वह सड़क की दूसरी तरफ खड़ी बाइक पर दो अ’पराधियों के साथ मोटरसाइकिल से दानापुर की ओर भाग निकले। स्थानीय लोग की मानें तो तीनों नहर से बालू पर के बीच के मोहल्लों के रहने वाले ही हैं।

चौंकाने वाली चार बातें
1- नशेड़ियों का अड्डा पुलिस को पता नहीं
रामजीचक में जहां पर दुकान है, वह पूरा भवन नशेड़ियों का अड्डा है। यहां दो वृद्ध दंपति रहते हैं। इसी घर की छत पर पूरे दिन स्थानीय लड़के नशा करते हैं। इसकी भनक तक पुलिस को नहीं है। कभी किसी को पकड़ने की कोशिश नहीं हुई है।

2- आधा किमी दूर है दीघा थाना
घटनास्थल से महज आधा किमी की दूरी पर दीघा थाना है। दीघा-दानापुर के बीच यही मुख्य सड़क है। अ’पराधी भी इसी सड़क से गुजरे होंगे।

3- आखिर कहां गया गश्ती दल
दीघा-दानापुर रोड पर पुलिस की गश्ती का सच भी सामने आ गया है। एक बाइक पर तीन अ’पराधी आसानी से भाग निकले और किसी ने पकड़ा तक नहीं।

4- डेढ़ घंटे की देरी से पहुंची पुलिस
यहां रात में एक बजे दुकानदार की गो’ली मा’रकर ह’त्या कर दी जाती है। बार-बार थाने में फोन किया गया। पास के मोहल्ले के एक लड़के ने मोबाइल पर फोन कर घटना की जानकारी दी। डेढ़ घंटे बाद ढाई बजे पुलिस मौके पर पहुंची।

शाम तक का समय तो पोस्ट मा’र्टम में ही बीत गया है। जांच पड़ताल के बाद आगे की तस्वीर साफ हो पाएगी। इस सड़क पर सीसीटीवी को खंगाला जाएगा। अबतक अ’पराधियों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here