11 व’र्षीय बहन का दु’ष्कर्म और ह’त्या का आ’रोपी निकला उसका ही भाई सुशील कुमार

0

उन्नाव। यूपी के उन्नाव में एक 11 व’र्षीय मा’सूम की ह’त्या के पहले चचेरे भाई ने मुं’ह का’ला किया था और अपने पा’प छिपाने के लिए उसने मा’सूम की ह’त्या कर दी। पुलिस ने घटना का खु’लासा करते हुए आ’रोपी चचेरे भाई को गि’रफ्तार कर लिया है। वहीं उसके घर से खू’न से स’ने कपड़े भी ब’रामद कर लिए। गौरतलब है कि बीते शुक्रवार की सुबह 11 व’र्षीय मा’सूम का र’क्तरंजित श’व बाग में मिला था। श’व मिलने की घटना से ह’ड़कंप मच गया था। मौके पर आईजी रेंज पुलिस अधीक्षक ने पहुंचकर घ’टनास्थल का निरीक्षण किया और शीघ्र ही आ’रोपी की गि’रफ्तारी का आश्वासन दिया था जिसके बाद सक्रिय हुई पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आरोपी को गि’रफ्तार कर लिया।

24 घंटे के अंदर हुआ खु’लासा

घटना सफीपुर कोतवाली क्षेत्र की है। कोतवाली पुलिस ने सुशील कुमार उर्फ रामबाबू पुत्र रमेश निवासी देव खेड़ा मजरा नयागांव कोतवाली सफीपुर को गि’रफ्तार किया है। रामबाबू की निशानदेही पर घर से खू’न से सने पैं’ट और शर्ट भी बरामद किया गया है। कोतवाली प्रभारी सफीपुर अशोक कुमार पांडे के अनुसार घटना के बाद पुलिस महकमे में त’नाव व्याप्त था। जिसके खुलासे के लिए आईजी ने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए थे। क्षेत्राधिकारी सफीपुर ने भी घ’टनास्थल पर ही कैंप कर खुलासे में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि स्वाट टीम व सर्विलांस के माध्यम से ह’त्या अभियुक्त राम बाबू को सफीपुर कोतवाली क्षेत्र के बभना तिराहे से गि’रफ्तार किया गया है।

कोतवाली प्रभारी ने बताया कि ह’त्या अभि’युक्त के खिलाफ पो’स्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद आईपीसी की धारा 302 में बढ़ोतरी करते हुए 376 व पास्को एक्ट भी लगाया गया है। पुलिस ने ह’त्या अभियुक्त को गि’रफ्तार कर न्यायिक हिरा’सत में भेज दिया है। पकड़ने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार पांडे के साथ एसआई उमेश सिंह, एसआई उमेश त्रिपाठी, एसआई मिठाई लाल, स्वाट टीम से निरीक्षक हरपाल सिंह, खैरुल बशर सहित अन्य पुलिस के जवान शामिल है। घटना के 24 घंटे के अंदर अनावरण करके पुलिस ने आम लोगों में व्याप्त आ’क्रोश को शांत करने का काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here