कोर्ट ने ऋचा को दिया ‘कुरान’ बांटने का ‘आदेश’ लिए वापिस, जानिए पूरा मामला

0

रांचीः रांची पुलिस कु’रान बंटवाने में अ’समर्थ है। इसीलिए कोर्ट को अपना आ’देश वा’पस लेना पड़ा। जी हां रांची की ऋचा भारती द्वारा वि’वादित पोस्ट किए जाने और फिर बेल की शर्त’ में कु’रान बांटने की सजा में बदलाव कर दिया गया है।

रांची पुलिस ने सिविल कोर्ट के जुडिशियल मजिस्ट्रेट वन की अदालत में अपील की के कोर्ट द्वार आ’रोपी ऋचा भारती द्वारा कु’रान बां’टने की जो आदेश दिया गया है उसके पालन में दि’क्कतें आ रही हैं, इसलिए आदेश में बद’लाव किया जाए। कोर्ट ने रांची पुलिस की अपील को स्वीकार करते हुए 15 जुलाई के अपने आ’देश को वापस लेते हुए कु’रान बांटने की शर्त हटा दी।

कोर्ट के आ’देश के बाद उम्मीद ये की जा रही है की मा’मला शांत हो जाएगा। ऋचा भारती को लेकर कई संगठनों ने मो’र्चा खोल दिया था। कई संगठन ऋचा के समर्थन में कोर्ट के फैसले पर स’वाल खड़े कर रहे थे। यहां तक की रांची के बार एसोसिएशन ने भी इसके खिलाफ जज मनीष सिंह की अदालत का ब’हिष्कार किया। इधर कुछ संगठनों ने सां’प्रदायिक सौहार्द बढ़ाने के नाम पर गी’ता बांटने की भी योजना बनाई है।

नामजद आ’रोपी ऋचा भारती के साथ पिठोरिया थाना कांड संख्या 58/2019 यू / एस 153 (ए) (ए), (बी) और 95 (ए) आईपीसी, 1860 में इस मामले में सशस्त्र जमानत दी गई 7,000 / – के जमानत बांड प्रस्तुत करने की शर्तों पर इस मामले में प्रत्येक राशि की दो निश्चितताओं और शर्तों के साथ कि जमानतदार में से एक रांची जिले का स्थानीय निवासी होगा और दूसरा याचिकाकर्ता का रिश्तेदार होना चाहिए और पवित्र कुरन की प्रतियां दान करने के लिए एक अतिरिक्त शर्त होनी चाहिए।

राज्य ने उक्त जमानत आदेश को संशोधित करने और उस सीमा तक स्थिति को संशोधित करने के लिए याचिका द्वारा प्रार्थना की थी।

यह अदालत याचिकाकर्ता द्वारा पवित्र कुरआन की प्रतियों के वितरण के अतिरिक्त संघटन को हटाकर अपने पहले के आदेश को संशोधित किया है। तदनुसार, दिनांक 15/07/2019 के आदेश ने इसे इस सीमा तक संशोधित किया है। शेष आदेश समान रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here