तबरेज अंसारी मो’ब लिं’चिंग में बड़ा खु’लासा, पि’टाई नहीं यह बना मौ’त का कारण

0

झारखंड के सराइकेला-खरसावां माॅ’ब लि’न्चिंग माम’ले में नया खु’लासा हुआ है. मृ’तक तबरेज के परिजनों के मुताबिक मा’रपी’ट के दौरान उसे ध’तूरे (एक प्रकार का जह’रीला फल) का रस पिलाया गया था. इससे उसके शरीर में ज’हर फैला, जिससे उसकी मौ’त हो गई. परिजनों की मानें तो पुलिस और जेल प्रशासन की ओर से इलाज में ला’परवाही बरती गई. यदि समय पर और ठीक से इलाज मिलता, तो तबरेज की जा’न ब’च सकती थी.

ध’तूरे का र’स पिलाया गया

मृ’तक के रिश्तेदार मकसूद आलम ने कहा, ‘हम लोग पुलिस की अब तक की कार्रवाई से संतुष्ट हैं. एसपी ने हमें न्या’य का भरोसा दिलाया है. मा’रपी’ट के दौरान तबरेज को ध’तूरे का ज’हरीला र’स पिलाया गया. इससे उसके शरीर में ज’हर फैल गया और उसकी मौ’त हो गई.’

घ’टना से राज्य और देश ब’दनाम हुआ

मृ’तक के चाचा मसरूर आलम ने कहा कि इस तरह की घ’टना से झारखंड और देश ब’दनाम होता है. लिहाजा दो’षियों को कड़ी स’जा मिलनी चाहिए जिससे आगे इस तरह की कोई घ’टना न हो. और का’नून को हाथ में लेने से पहले लोग सौ बार सोचें.

प्रशासन की टीम ने पी’ड़ित परिवार से की मुलाकात

इस बीच मंगलवार को डीडीसी, मेसो पदाधिकारी और जिला आपूर्ति पदाधिकारी की संयुक्त टीम ने कदमडीहा गांव जाकर पी’ड़ित परिवार से मुलाकात की. प्रशासन की टीम ने परिवार को विधवा पेंशन और पीएम आवास योजना का लाभ देने का भरोसा दिलाया है. वहीं डीसी ने मामले की जांच के लिए एसडीओ की अगुआई में 3 सदस्यीय टीम का गठन किया है.

बाइक चो’री के आरोप में पि’टाई

बता दें कि 17 जून की रात को मृ’तक तबरेज जमशेदपुर स्थित अपने फुआ के घर से वापस अपने गांव कदमडीहा लौट रहा था. इसी दौरान धातकीडीह गांव में ग्रामीणों ने मोटरसाइकिल चो’री के आ’रोप में उसे पकड़ लिया और रात भर बां’धकर पि’टाई की. इसके बाद लोगों ने अगले दिन सुबह उसे पुलिस के ह’वाले कर दिया. पुलिस ने पहले उसका इलाज सदर अस्पताल में कराया, फिर शाम को जे’ल भेज दिया.

सदर अस्पताल में इ’लाज के दौरान मौ’त

22 जून की सुबह तबरेज को जे’ल से गंभीर हालत में सदर अस्पताल लाया गया, जहां उसकी मौ’त हो गयी. मृ’तक के परिजनों ने उसके जिं’दा होने का दावा कर उसे रेफर करने की मांग की जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने उसे जमशेदपुर के टीएमएच अस्पताल रेफर कर दिया. वहां भी डॉक्टरों ने तबरेज को मृ’त करार दिया. यहां से श’व को वापस सरायकेला लाकर उसका पो’स्टमॉ’र्टम कराया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here