दिल्ली पु’लिस का कारनामा,3 घंटे के अंदर माता पिता से मिलाया ब’च्ची को

0

नई दिल्ली : छोटी-छोटी बातों पर भी वि’वाद में रहने वाली दिल्ली पुलिस ने तीन साल की मा’सूम ब’च्ची को तीन घंटे के भीतर उसकी मां से मिला दिया। अपनी मा’सूम बे’टी को पाकर दंपती की खुशी का ठिकाना नहीं था। उन्होंने दिल्ली पुलिस का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि अगर पुलिस न होती तो पता नहीं आज उनकी बे’टी किस हा’ल में होती।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक तुर्कमान गेट चौकी के इंचार्ज एसआइ सोहन लाल के साथ एएसआइ प्रकाश और कांस्टेबल रूपलाल मोहल्ला क’ब्रिस्तान तुर्कमान गेट इलाके में ग’श्त कर रहे थे। शनिवार दोपहर बाद करीब साढ़े चार बजे उन्हें एक ती’न साल की ब’च्ची रो’ती हुई मिली।

उन्होंने बच्ची को चुप कराया और उसे बिस्कुट व फ्रूटी दी। आसपास के लोगों ने पुलिस को बताया कि ब’च्ची गुम हो गई है। पुलिसकर्मियों ने ब’च्ची को अपने साथ लिया और उसे पुलिस चौकी ले गए। गुम हुई ब’च्ची मिलने की सूचना तत्काल एसीपी वीर सिंह को दी गई।

जिसके बाद ब’च्ची को उसके परिजनों से मिलाने का प्रयास शुरू किया गया। तीन वर्ष की मा’सूम ब’च्ची अपना नाम भी ठीक से नहीं बता पा रही थी। पुलिस ने आस-पास सभी लोगों को इस बात की जानकारी दी और बताया कि अगर कोई भी व्यक्ति या महिला किसी ब’च्ची के बारे में पूछे तो उसे चौकी भेज दें।

इसके अलावा पुलिस ने एक-एक गली में जाकर ब’च्ची के परिजनों को ढूंढ़ना शुरू किया। शाम करीब साढ़े सात बजे अजहर अपनी पत्नी नीशा के साथ तुर्कमान गेट पुलिस चौकी पहुंचे। ब’च्ची मां को देखते ही उसके सीने से लिपट गई। नीशा ने बताया कि वह तुर्कमान गेट इलाके में ही रहती हैं। दोपहर को वह घर में काम कर रही थीं तभी उनकी बे’टी घर से बाहर निकलकर गुम हो गई।

वीडियो कॉल के जरिये पुलिस ने घरेलू सहायिकाओं को कराया था मुक्त

सुभाष प्लेस इलाके में ब्रिटानिया चौक के पास पीसीआर कर्मियों ने गुरुवार को बं’धक बनाकर रखीं गई सात घरेलू सहायिकाओं को मुक्त कराया था। किसी व्यक्ति ने 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को सूचना दी थी। लेकिन, वह स्थान बताने में असमर्थ रहा। इसके बाद पुलिस कर्मियों ने लोकेशन देखने के लिए वीडियो कॉल किया और वीडियो कॉल के जरिए ही मौके पर पहुंचे। मुक्त कराई गई घरेलू सहायिकाओं को उनके घर भेज दिया गया है।

पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पीसीआर में तैनात एएसआइ सुल्तान सिंह और हवलदार को 20 जून की रात को सूचना मिली थी कि सुभाष प्लेस इलाके में एक प्लेसमेंट एजेंसी में लड़कियों को बं’धक बनाकर पि’टाई की जा रही है। कॉल करने वाला शख्स पूरा पता नहीं बता पा रहा था। वह केवल इतना बता पा रहा था कि घटना स्थल ब्रिटानिया चौक के पास है।

ऐसे में पीसीआर कर्मियों ने उस शख्स के मोबाइल पर वीडियो कॉल किया और मोबाइल के वीडियो के आधार पर जगह की पहचान कर शकूरपुर जेजे कॉलोनी स्थित एच ब्लॉक पहुंचे। इसके बाद सात घरेलू सहायिकाओं को मुक्त कराकर स्थानीय थाना पुलिस के हवाले कर दिया। लड़कियां अपने घर जाना चाहती थीं, लेकिन प्लेसमेंट एजेंसी के संचालक ने उन्हें घर नहीं जाने दिया। विरोध करने पर उनसे मा’रपी’ट की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here